Download!Download Free 101 Motivational Hindi Stories PDF Book

पहले कुछ सहना पड़ता है। A Hindi Story.

एक Hindi Story जो हमें याद दिलाता है की अगर हमें कुछ पाना है तो उसके लिए कुछ खोने के लिए भी Rady रहना पड़ेगा। A Hindi Story with moral for kids.
Tattoo (गोदना गुदवाना) बनवाना पहले कुछ देशों या कबीलों का काम था वह पहचान के लिए या आस्था के रूप से बनवाया करते थे अब तो यह शौकिया बनवाया जाता है। Tattoo बनाने की विधि यह है की जो नक्शे Tattoo में बनवाना है पहले उसके मुताबिक सूई से छेद किया जाता है और फिर उन छेदों में मसाला भर दिया जाता है। इस तरह Black Color का नक्शा बन जाता है को पूरी ज़िंदगी रहता है।
 पहले कुछ सहना पड़ता है। A Hindi Story.

पहले कुछ सहना पड़ता है। A Hindi Story.

एक मर्तबे की बात है के एक आदमी Tattoo बनवाने (गोदना गुदवाने) के लिए उसे बनाने वाले के पास गया और कहा के मेरे हाथ में शेर की आकृति बना दो।
गोदने वाले ने सुई उठाई और चिह्नित करना Start कर दिया। सुई की चुभन उस आदमी को बहुत दर्दनाक लगा। उस ने कहा “क्या बना रहे हो?” गोदने वाले ने कहा “पुंछ” आदमी ने कहा “क्या बगैर पुंछ के शेर नहीं होता” गोदने वाले ने कहा “अच्छा ठीक है” और दूसरी चीज़ बनाने लगा। अब सुई नोक फिर से चुभने लगी। आदमी ने कहा “अब क्या बना रहे हो?” उसने कहा “पैर” आदमी ने कहा “क्या पैर बना ज़रूरी है?” गोदने वाले ने कहा “अच्छा ठीक है इसे भी छोड़ देता हूँ” अब वह दूसरी चीज़ गोदने लगा। आदमी के अंदर फिर बेचैनी शुरू हो गई। उसने कहा “अब क्या बना रहे हो?” उसने कहा “मुंह” आदमी ने कहा “क्या मुंह बनान ज़रूरी है? तुम बगैर मुंह के ही शेर बना दो।” इसी तरह वह एक एक चीज़ को बनाने से रोकता रहा आखिर कर यह हुआ के शेर की आकृति न बन सकी केवल कुछ अजीब तरह के निशान बन कर रह गए।
हर उद्देश्य को पूरा करने के लिए शुरू में कुछ न कुछ सहना पड़ता है। अगर आदमी सहने के लिए तैयार न हो तो वह अपने किसी भी उद्देश्य को पूरा नहीं कर सकता।
हम आपका हमारे हिंदी कहानी (Hindi Story) संग्रह में स्वागत करते हैं जहाँ बेहतरीन कहानियों को इकट्ठा किया है आप इसे भी अवश्य पढने की कोशिश करें यह प्रेरणा दायक कहानियों का बेहतरीन संग्रह है।
——————————————–
यदि आपके पास भी Hindi में कोई लेख, Hindi Story, प्रेरणादायक कहानी या उपयोगी जानकारी, Quotes हों जिसे आप Achibaten.com share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपने नाम, Facebook Address या अपने ब्लॉग यूआरएल (Blog URL) की जानकारी के साथ हमें absarhak@gmail.com पर E-mail करें। पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और आपके ब्लॉग की जानकारी के साथ यहाँ प्रकाशित करेंगे।
——————————————–

Free Hindi EBook प्राप्त करने के लिए

अपना Email Enter करें

8 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *