Hindi Stories Short Stories with Moral

Motivational hindi story of hakeem luqman.

Motivational Hindi story of Hakeem Luqman. हकीम लुकमान अपनी बुद्धिमानी की वजह से बहुत लोकप्रिय है आज मैं उन्ही की बुद्धिमानी पर एक Motivational Hindi Story Post कर रहा हूँ।
Motivational hindi story of hakeem luqman.

A Motivational Hindi Story of Hakeem Luqman.

Luqman Hakeem अपनी बुद्धिमानी और जानकारी के कारण बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हैं। पेश है उनका एक  Motivational Hindi Story। कहते है एक बार Luqman Hakeem एक नदी के किनारे किनारे चले जा रहे थे के रास्ते में एक यात्री ने उन्हें रोक कर पूछा “अरे भाई क्या आप मुझे ये बता सकते हैं के मैं फलां शहर कितनी देर में पहुंच जाऊँगा?”
Luqman Hakeem ने उस यात्री की बात का कोई उत्तर नहीं दिया और चलते रहे।
यात्री ने यह सोच कर के शायद इस ने मेरी बात न सुनी हो या फिर न समझी हो दोबारा अपना प्रश्न दोहराया “जनाब मुझे यहाँ से शहर जाने में कितनी देर लगेगी?”
Luqman Hakeem ने इस बार धीरे से कहा “अपनी राह लो” यात्री ने हैरान होते हुए फिर पूछा “भाई साहब मैं ने आप से एक प्रश्न किया है, शायद आप ने सुना नहीं। मैं एक यात्री हूँ और थक कर चूर हो चुका हूँ. मुझे शहर जाना है। शहर यहाँ से कितनी दूर है और मुझे वहां तक पहुँचने में कितनी देर लगे गी?”
Luqman Hakeem ने फिर वही उत्तर दिया “मियां मैं तुम से कह तो रहा हूँ जाओ अपनी राह लगो” यात्री Luqman Hakeem की बात सुन कर गुस्से से लाल पिला होने लगा लेकिन उसने अपने आप पर काबू पाया और दिल में सोचा कितना अजीब आदमी है फ्री मिलने वाली नेकी को भी नहीं लेना चाहता शायद इसका दिमाग ख़राब है। यह सोच कर वह Luqman Hakeem से कुछ न कहा और चल पड़ा। अभी कुछ दूर ही गया होगा के पीछे से Luqman Hakeem की आवाज़ आई “यात्री! सुनो तुम दो घंटे में शहर पहुँच जाओगे”
Luqman Hakeem की आवाज़ सुन कर अपने आप यात्री के पाऊँ थम गए, उसे बड़ी हैरत हुई और उलटे पाऊँ वापस आकर Luqman Hakeem से अश्च्र्यता के साथ पूछा “भाई मैं ने जब तुमसे बार बार पूछा के मैं शहर कितनी देर में पहुँच जाऊँगा तो तुमने कोई उत्तर नहीं दिया और अब जब के मैं आपसे मायूस होकर अपनी राह चल दिया तो तुमने पीछे से आवाज़ दी के मैं दो घंटे तक शहर पहुँच जाऊँगा, यह क्या बात हुई?”
 के दुसरे Post में आप का स्वागत है। और यह Motivational Hindi Story कैसा लगा Comment करें।

Luqman Hakeem ने कहा “ऐ यात्री! जब तुम मुझ से बार बार अपना प्रश्न पूछ रहे थे तो उस समय तुम खड़े थे और मुझे पता नहीं था के तुम कितनी तेज़ चलते हो? इसी लिए मैं ने तुमसे कहा अपनी राह लो, ताके मैं तुम्हारी रफ़्तार देख लूँ, और जब बाद में तुम चल पड़े तो मैं ने अंदाज़ा लगाया के जिस रफ़्तार से तुम जा रहे हो तुम्हें शहर पहुँचने में कम से कम दो घंटे ज़रूर लग जाएंगे।”

Luqman Hakeem की बात सुन कर यात्री आश्चर्य में पड़ गया और दिल ही दिल में इनकी बुद्धिमानी का गुण गाते हुए शहर की ओर चल पड़ा।
—————————-
हम आपका हमारे हिंदी कहानी संग्रह में स्वागत करते हैं जहाँ बेहतरीन कहानियों को इकट्ठा किया है आप इसे भी अवश्य पढने की कोशिश करें यह प्रेरणा दायक कहानियों और Motivational hindi story का बेहतरीन संग्रह है।
————————–

UPTO
40%-OFF
Deal
Up to 40% off TVs & Appliances + Additional 10% cashback on SBI debit and credit cards. amazon today's deals india amazon today deals offers amazon today deals mobiles amazon today deals and offers today deals at amazon amazon today's best deals amazon current best deals amazon today's deals coupons amazon today hot deals More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

8 Comments