Personal Development

पागल और बेवकूफ में अंतर

पागल और बेवकूफ में अंतर

कहीं किसी पागलखाने के समीप एक आदमी की गाडी Puncture हो गई,

उसने गाडी की Tyre बदलने के लिए नट खोला और उसे सामने रख कर डिकी से Stepney Tyre निकालने गया…

के

नट ढलक कर ढलान से फिसल गए और खाई में जा गिरे.

वो आदमी परिशानी के साथ खड़ा उसे देखने लगा. तभी पागलखाने की खिड़की से झांकते हुए एक पागल ने उस से कहा: भाई साहब! बाक़ी के तीनो टायरों से एक एक नट खोल कर उस टायर को लगा लो, फिर जब सामने की आबादी में पहुँच जाओ तो नए नट लगा लेना.

आदमी बहुत खुश हुआ और ख़ुशी से कहने लगा: यार ! तुम हो तो पागल लेकिन तुमने Idea बड़ा अच्छा दिया.

जानते हैं उसने जिसे लोग खिसका हुआ कहते हैं क्या उत्तर में क्या कहा?

ये भी पढ़ें: लकडहारा से अरबपति का सफ़र IKEA Company Story

उसने कहा:

जी हाँ मैं पागल ज़रूर हूँ, लेकिन बेवकूफ नहीं.

जर्मन में एक कहावत है.

दुन्या को हानी न तो पागल पहुंचाते हैं और न ही अक़लमंद, हानिकारक तो वो लोग होते हैं जो आधे अक़लमंद होते हैं.

फारसी का भी एक कहावत है.

नीम हकीम खत्राए जान, नीम मुल्ला खत्राए इमान

………………….

क्या पागल होना अच्छा है?

जी नहीं…!

यह बिलकुल गलत है लेकिन यहाँ यह बतलाने की कोशिश की जा रही है कि बेवकूफी पागलपन से अधिक बुरी चीज़ है. जो इंसान बेवकूफी के कारण गलती करता है हानि उसी से पहुँचता है और अगर किसी और कारण से गलती करता है तो उस से सीखता है.

………………….

आप को पागल और बेवकूफ में अंतर कैसा लगा टिप्पणी करें और अपनी राय अवश्य दें. और अगर आप के पास भी इस तरह कोई जानकारी हो तो उसे AchiBaten.Com में Share करे. AchiBaten.Com में आप अपना Article कैसे Share कर सकते हैं इसके लिए आप यहाँ (इस Website का हिस्सा बनें) जाकर पूरी जानकारी ले सकते हैं.

UPTO
50%
Cash-Back
Deal
Recharge using any payment method and get a 50% cashback; The total cashback that a customer can avail during the offer period is INR 50; The Offer is applicable for both new and existing customers; Shop with Amazon Pay balance only for the eligible products and get Rs.50 cashback. (b) The cashback amount will be credited to the eligible customer's account as Amazon Pay balance There is no minimum recharge value required to be eligible for the offer More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment

1 Comment

  • bahut hi badiya jankari aapne ji hai aapka ye post padh kar maza aa gaya. mai ummed karta hu ki aap Aage bhi iss tarah ke post publish karte rahege. aapka dil se dhnewaad iss badiya post ke liye..