Personal Development Success

Successful Life के चार समझौते

Successful Life:-

हम अक्सर Perfection या पूरा होने का एक कल्पना स्थापित कर लेते हैं। और फिर जीवन भर उस कल्पना के पीछे भागते रहते हैं। हम Perfect (पूर्ण) इसलिए दिखना चाहते हैं ताकि लोग हमें स्वीकार (Accept) करें। खुद को दूसरों की दृष्टि से देखते हैं। इसी स्वयं के बनाए हुए परफ़ेकशन के चश्मे देख कर हम दूसरों के बारे में राय कायम करते हैं और उनसे भी परफेक्ट होने की उम्मीद करते हैं। खुद को दूसरों से स्वीकार करते कराते हम अपने जीवन जीना छोड़ देते हैं। अब आपके पास दो रास्ते हैं। या तो दूसरों के विचारों के आगे हार मान लें और उनकी जैसी जीवन जीना शुरू कर दें। या फिर अपना दिमाग का प्रयोग करें और अपना रास्ता खुद एक Successful Life के लिए खुद Set करें। फैसला आपके हाथ में है आपने दूसरों की बात पर विश्वास रखना है, या अपने आप पर? जरा उस जीवन की कल्पना करें जिसमें आप का व्यवहार दूसरों के अधीन नहीं है, जिस जीवन में दूसरे आप को जज नहीं कर रहे।

Successful Life के चार समझौते
आप किसी के भी की राय के मोहताज नहीं। आप किसी को नियंत्रित नहीं कर रहे हों और न ही कोई आप पर नियंत्रण कर रहा हो। एक ऐसी जीवन, जिसमें आप को हमेशा सही होने की जरूरत नहीं। और किसी दूसरे को गलत साबित करने की जरूरत नहीं, आप ने खुश रहना है या परेशान, यह आपका अपना अधिकार है। भला कौन ऐसी जीवन नहीं बिताना चाहेगा? एक Successful Life ?

Successful Life के लिए चार समझौते

एक लेखक ने किताब लिखी है, जिसका नाम है Four Agreements, यानी चार समझौते। अगर आपको Successful Life जीना है, तो खुद से यह चार समझौते कर लो:-
पहला समझौता: शब्द का उपयोग हमेशा सावधान रहो own life शब्द एक Power है, जिसे आप बनाते हैं। कोई आप केलिए बुरे Words का Use करे तो आप गुस्सा हो जाते हैं, अच्छे उपयोग करे तो खुश हो जाते हैं। जो आपसे नाराज हों, वह अपना भावनात्मक जहर शब्दों की सूरत में आप फेंकते हैं। अपने क्रोध, ईर्ष्या और नफरत फैलाने लिए भी शब्दों का सहारा ही लिया जाता है। आप को किसी की बात से दुख पहुंचा, तो बदला लेने के लिए भी आप भी शब्दों का ही प्रयोग करेंगे। इसलिए Writer कहता है, शब्दों के इस्तेमाल में Careful रहें। और अगर किसी के विरुद्ध नकारात्मक शब्द सुनें, तो तुरंत ही नकारात्मक राय नहीं कायम कर लें। कौन जानता है इन नकारात्मक शब्दों के पीछे क्या कहानी है। किसी के बारे में कोई भी राय केवल व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर स्थापित करें।
दूसरा समझौता: दिल पर मत लें। यार कोई हमें मजाक का निशाना बनाए, या हमारे बारे में नकारात्मक राय दिखाए, तो हम तुरंत दुखी हो जाते हैं। दिल पर ले जाते हैं। जरा सी बात पर बड़ा रोग लगा लेते हैं। क्योंकि हमें हमेशा सही दिखना होता है, Perfect रहना होता है। लेकिन साहब, Four Agreements के लेखक कहते … किसी भी बात को दिल पर न लें। आप अनावश्यक परेशानियों से छुटकारा पा लेंगे। और यह केवल नकारात्मक राय तक सीमित नहीं, लेखक का तो कहते है कोई आपके बारे में अच्छी राय व्यक्त करे, तो उसे भी दिल पर न लें।
तीसरा समझौता: कुछ भी मान कर न चलें। हमें कोई मुस्कुरा कर देख ले तो दिल में सौ सौ विचार बांध लेते हैं। किसी की एक नज़र से अपने आसपास सपनों एवं विचारों की दुनिया बसा लेते हैं। और फिर उस पर विश्वास भी करना चाहते हैं, अपने विचारों को वास्तविकता में ढालना चाहते हैं। और अंत में पता चलता है … यह तो केवल आपके दिमाग का अभिनव थी। सपना था जो कि देखा, जो सुना कहानी था इसलिए, मान कर चलने से बेहतर है, सवाल पूछो, और जवाब लेने का प्रयास करो। हमारे हां अक्सर समस्याएँ मान कर चलने से ही पैदा होती हैं। आप मान कर चली हुई बात पर इतना विश्वास कर लेते हैं कि उसे ही सही समझने लगते हैं, और तथ्य सामने आजाए तो उसे मानने से इनकार कर देते हैं। उस समय आप यह नहीं सोचते कि जिसे आप वास्तव समझते हैं, वह तो आपके अपने विचार थे। जिसे आपने असलियत समझा, वह तो आपने माना था। इसलिए, कुछ भी मान कर चलने से पहले सवाल, और अंतिम जवाब प्राप्त करने का प्रयास करें। Successful Life आसान हो जाएगा।
चौथा समझौता: हमेशा अपनी पूरी कोशिश करें। कोई भी काम पूरी ऊर्जा और मेहनत से करें। और यह भी ध्यान रखें कि आपकी पूरी कोशिश भी परिस्थितियों और घटनाओं के अधीन होती है। सुबह उठते समय आप ऊर्जा से भरे होते हैं, उस समय काम की गुणवत्ता कुछ और होगा, थकान के समय कुछ और … लेकिन कोई काम करते हुए ध्यान रखें कि आप अपनी पूरी कोशिश करेंगे।
अंत में लेखक लिखता है कि इन चार समझौतों को भी जान का रोग न बनाओ। पालन करने की पूरी कोशिश करो, लेकिन चूक जाओ तो घबराओ नहीं। Next Day फिर शुरू कर दो। एक ही बात बार बार दोहराओगे तो उस पर कुशल हो जाओगे। यह पहले पहले Hard लगेगा, लेकिन आखिरकार यह Habit बन जाएगी, और आप को पता चलेगा कि इन चार समझौतों के माध्यम से आप अपने जीवन पर राज कर रहे हैं। आप हैरान रह जाएंगे कि आपके जीवन कितना बेहतर से बेहतर होगया है। आपको मालूम होगा कि Successful Life जीने से हमें कोई नहीं रोकता, हम खुद ही अपने रास्ते की बाधा बनकर खड़े रहते।

( “Successful Life के चार समझौते” Translated from Urdu )

UPTO
50%
Cash-Back
Deal
Recharge using any payment method and get a 50% cashback; The total cashback that a customer can avail during the offer period is INR 50; The Offer is applicable for both new and existing customers; Shop with Amazon Pay balance only for the eligible products and get Rs.50 cashback. (b) The cashback amount will be credited to the eligible customer's account as Amazon Pay balance There is no minimum recharge value required to be eligible for the offer More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment