Interesting Knowledge

Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi.

Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi. यह 19 वीं शताब्दी था। जब मानव जाति को यह समझ में आई के लोहे के बड़े बड़े ढांचों को जोड़ कर किस तरह एक विशालकाय भवन का रूप दिया जा सकता है। उस समय यूरोप में लोहे के बड़े बड़े ढांचों से भवन निर्माण करने का लहर दौड़ा हुआ था।
 Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi.
एक ऐसे फौलादी Tower के निर्माण का विचार जिस की ऊंचाई 304।8 (1000 फिट) हो पहले पहल Karen’s Mane Richard Triwi के दिमाग में आया था। वह पहला व्यक्ति था जिस ने यह प्रदर्शन कर के दिखाया था के किस तरह भाप के इंजन को रेल की पटरियों पर चलाया जा सकता है ताके उससे माल ढोने का काम लिया जासके।
इस Tower के विचार को उस समय तक आगे नहीं बढाया जा सका जब तक कि Engineer Alexandre Gustave Eiffel सामने न आगया। Eiffel दुनिया का जाने-माने निर्माण विशेषज्ञों में से था। जो लोहे के निर्माण से संबंधित काम कराया करता था। उसने कई फौलादी निर्माण कार्य पूरे किये थे। 1889 में जब Paris में एक प्रदर्शन का आयोजन किया गया उस समय Eiffel को यह राय दी गई थी कि वह एक ऐसी चीज़ का निर्माण करे जो फौलादी निर्माण का भव्य नज़ारा प्रस्तुत करती हो। अतः उस ने एक Tower बनाने का निर्णय लिया। 1886 में उस Tower के निर्माण कार्य की तैयारियाँ आरंभ कर दी गईं। पत्थर पर उसकी नींव रख दी गई। 40 Draftsman उस Tower के विभिन्न भागों की विस्तृत ड्राइंग बनाने में व्यस्त हो चुके थे और एक Factory उन Steel के टुकड़ों को बनाने में लग चूकि थी।
यह भी देखें: Hindi Stories

 

ज्यों ही May 1889 में नुमाइश का उदघाटन का समय समीप आया त्यों ही Tower का काम ज्यादा उत्साह के साथ किया जाने लगा। अगर चे ठंड अपने जोबन पर थी लेकिन इसके बावजूद भी सैंकड़ों कारीगर लोहे के गार्डों को एक दूसरे से जोड़ने में व्यस्त थे। और इस काम को पूरा करने के लिए जो Duty Time था उससे ज्यादा काम कर रहे थे।
पहले चार भारी भरकम, फौलादी टांगे स्थापित की गईं, और उनको एक दूसरे से जोड़ा गया। 57.9 मीटर (190 फिट) की ऊंचाई पर एक Platform बनाया गया। उस Platform पर Tower का दूसरा भाग बनाया जाना था। यहाँ से दूसरे Platform को बनाने का काम किया गया। दूसरा Platform 115.8 मीटर (895 फिट) की ऊंचाई पर बनाया गया। उसके ऊपर Tower का गुंबद था। इस मीनार में Lift भी लगाए गए और March 1889 में Eiffel ने इस Tower पर France का झंडा लहराया।
इस तरह दुनिया के प्रसिद्ध फौलादी टावर का निर्माण पूरा हुआ। उस Tower को निर्माण से लेकर आज तक करोड़ों लोगों देख चुके हैं। इस Tower को France की महानता का प्रतीक कहा जाता है। जब यह Tower बन कर पूरा हुआ उस Time यह दुनिया का सबसे ऊँची निर्माण की चीज़ थी। उसके निर्माण के समय और निर्माण पूरा होने के बाद भी कुछ लोग ऐसे थे जो इस निर्माण को ना पसंद करते थे। लेकिन ऐसे लोग बहुत कम ही थे। बहुत से लोग इस बात से सहमत हैं कि Eiffel Tower के बिना Paris बिलकुल ऐसा ही है जैसे Paris के बिना France।

Interesting Knowledge About Eiffel Tower

रोचक तथ्य:

 

उंचाई: 320 मीटर (1040 फिट)
 
भार: 700 टन
 
इसकी चोटी से 90 किलोमीटर (55.9 मिल) तक देखा जा सकता है।
———–
Eiffel Tower से संबंधित यह Small Information कैसा लगा यह ज़रूर बतलाएं, और अगर आप के पास किसी के History पर कोई लेख हो तो हमें absarhak[@]gmail.com पर भेजें हम उसे आप के Information के साथ Post करेंगे।
 ——————————
Tag: Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi. Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi. Interesting Knowledge About Eiffel Tower in Hindi.

UPTO
50%
Cash-Back
Deal
Recharge using any payment method and get a 50% cashback; The total cashback that a customer can avail during the offer period is INR 50; The Offer is applicable for both new and existing customers; Shop with Amazon Pay balance only for the eligible products and get Rs.50 cashback. (b) The cashback amount will be credited to the eligible customer's account as Amazon Pay balance There is no minimum recharge value required to be eligible for the offer More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment

2 Comments