Hindi Stories Success

Napoleon Bonaparte नेपोलियन बोनापार्ट

Napoleon Bonaparte नेपोलियन बोनापार्ट
‘दादी अम्माँ, ये संतरे कैसे देती है?’ – French के एक नगर ब्रीन के सेनिक School में पढ़नेवाले एक तेरह वर्ष के लड़के ने School के पास ही फल बेचनेवाली एक वृद्धा से पूछा।
वृद्धा ने उत्तर दिया -चार फ्रंैक का एक संतरा हैं, बेटा।
लड़का- और,यदी दाम कुछ दिनो के बाद चुकाये जाये तो, एक संतरे के कितने फ्रेंक देने होंगे?
वृद्धा- मैं समझी नहीं बेटा।
लड़का- दादी अम्माँ, आज मेरे पास एक भी फ्रेंक नही हैं।
वृद्धा- कोई बात नहीं, बेटा जब हो दे देना।
लड़का- तू कितनी अच्छी है दादी अम्माँ! पहले एक बात बता।
वृद्धा- क्या?
लड़का- यह बात कि मैं बड़ा होकर क्या बनूँगा?
वृद्धा- तुम वही कुछ बनोगे, जो तुम बना चाहते हो। भागवन् हर सच्चे बच्चे की इच्छा पूरी कर देता है। वह बड़ा करुणामय है।

25 Top Quotes In Hindi

लड़का- दादी माँ तो मुझे आशीर्वाद दो कि मैं फ्रांस का राजा बनूँ।
वृद्धा- हाँ बेटा तुम्हारे मन की कामना पूरी हो। भागवान् तुम्हे French का राजा बनाये।
एक दिन वही लड़का Hostel के समीप घास के एक मैदान में बैठा था। उसके कुछ साथी उसके पास आये और बोले – ‘तुम हमारे साथ बातचीत क्यो नहीं करते? क्या इसलिए कि तुम गरीब हो और हम सब अमीर माता-पिता के बेटे हैं?’
अपने साथियो की बात सुनकर उस लड़के ने कहा – ‘नहीं ऐसी बात नहीं है। मैं तो तुम लोगो से सिर्फ इसलिए बात नही करता, क्योंकि के तुम सब मामूली अमीरों के बेटे हो, जबकि मैं फ्रांस का होनेवाला सम्राट् हूँ।’
और एक दिन वह लड़का अपनी सूझ-बूझ से सचमुच French का राजा बन गया। जानते हो वह दृढ़निश्चयी, वीर और साहसी बालक कौन था?

वह था नेपोलियन बोनापार्ट (Napoleon Bonaparte)।

Napoleon Bonaparte का जन्म 15 अगस्त,1769 ई0 को कार्सिका के अजैसियो नामक स्थान में हुआ था। उसके पिता का नाम चाल्र्स बोनापार्ट और माता का नाम लीतिशिाया रेमाॅलिनो था।
Napoleon Bonaparte ने ब्रीन के सैनिक School में पाँच वर्ष तक अध्ययन किया। उसके उपरांत पेरिस के सैनिक School में उसने तोपखाने के विषय में विशेष ज्ञान प्रप्त किया। वह1799 ई0 में French का प्रथम सलाहकार बना। प्रथम सलाहकार के रूप में उसका सर्वाधि महत्त्वपूर्ण कार्य ‘कानून संहिता का निर्माण’ था। 9 मार्च,1796 ई0 को उसने जोसेफाइन से शादी की।1802 ई0 में वी जीवन भर के लिए French का प्रमुख सलाहकार बना। उसी वर्ष मार्च में वह French का सम्राट् बन गया। वह कहता था – ‘मैंने French के राजमुकूट को धरती पर पड़े पाया और उसे अपनी तलवार की नोंक से उपर उठा लिया?’
Napoleon बहुत वीर, दृढ़प्रतिज्ञ और साहासी था। वह जिवन भर युद्ध करता रहा और उसने Europe के प्रायः सभी देशों को पराजित कर दिया। वह अपने सैनिको के बीच ‘लिटिल काॅरपोल’ के नाम से प्रसिद्ध था। क्योंकि, उसका कद छोटा था। पर तीव्र बुद्धि के कारण जहाँ चाहता था, वहीं राह बना लेता था। एक बार उसके सैनिकों ने आकर उससे कहा-आल्प्स पर्वत हमारा रास्ता रोके खाड़ा है। Napoleon ने कहा-‘असम्भव’ शब्द मूरखों के शब्दकोश में मिलता है। आल्प्स है ही नहीं।‘ ऐसा कह कर वह सब से आगे अपने घोड़े पर बैठकर आल्प्स पर चढ़ गया और उसके पीछे देखते-ही-देखते सारी सेना आल्प्स को पार कर गयी।
Napoleon की स्मरणशक्ति बड़ी तेज थी। वह अपने वचन का पक्का था और किसी के द्वारा की गयी भलाई को कभी नहीं भूलता था। तभी तो, French के सम्राट बनने के बाद वह एक फल बेचने वाली उस वृद्धा के पास गया और बोला-‘दादी अम्माँ, यह लो अपने सारे फ्रैंक।’

हमारी आज़ादी पर एक किताब A Popular Book

French के सम्राट को अपने सामने खड़े देखकर वृद्ध भाव-निभोर हो गयी। उस ने कहा – ‘नहीं महाराज! ऐसा न करें।’ वृद्धा की यह बात सुनकर नेपोलिसन ने कहा था।-‘मुझे बेटा कहो। महाराज मत कहो। तुम्हारे लिए तो मैं सदा तेरह वर्ष का लड़का हूँ।’
Napoleon बहुत महत्त्वाकांक्षी था। वह विश्व पर अपना अधिकार करना चाहता था। इसलिए वूरे यूरोप पर विजय प्राप्त करने के बाद उसने इंग्लैंड पर भी अपनी विजय-पताका फहरानी चाही, किन्तु यूरोप के अनेक देशों को अपनी ओर मिलाकर इंग्लैड ने वाटरलू के युद्ध में उसे पराजित कर दिया। वहीं सन् 1821 में पाँच मई को उसकी मृत्यु हो गयी।
इस तरह अपने देश का गौरव बढ़ाने के लिए Napoleon ने अपनी जीवन की बाजी लगा दी। आज वीर, साहसी, दृढ़प्रतिज्ञ और महत्त्वाकंक्षी व्यक्तियों का जब-जब स्मरण किया जता है, Napoleon का नाम अनायास मुँह  से निकल पड़ता है।

UPTO
50%
Cash-Back
Deal
Recharge using any payment method and get a 50% cashback; The total cashback that a customer can avail during the offer period is INR 50; The Offer is applicable for both new and existing customers; Shop with Amazon Pay balance only for the eligible products and get Rs.50 cashback. (b) The cashback amount will be credited to the eligible customer's account as Amazon Pay balance There is no minimum recharge value required to be eligible for the offer More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment

2 Comments