Success

Positive self-esteem सकारात्मक आत्मसम्मान।

Positive self-esteem, अगर तुम अपने आप से प्यार करते हो तभी तुम दूसरों को प्यार दे सकते हो, जो चीज़ तुम्हारे पास है ही नहीं वह तुम किसी और को कैसे दोगे?
सकारात्मक आत्मसम्मान (Positive self-esteem) एक Successful व्यक्ति मुख्य विशेषताओं में से एक बहुत ही महत्वपूर्ण विशेषता है। यह आदमी के अंदर गहराई में मिलती है। अप इसे अपने आप की Value कह सकते है।
“आप जानते हैं कि मैं अपने आप को पसंद करता हूँ, सच मुच मैं अपने आप को पसंद करता हूँ, मुझे अपने Parents और अपने आसपास की चीज़ों से प्यार है। जो कुछ मैं हूँ वही स्थिति मुझे पसंद है”
 Positive self-esteem सकारात्मक आत्मसम्मान।
यह शब्द असल में एक Successful आदमी की ज़ुबान से निकले हुए होते हैं। Success होने के लिए सकारात्मक सोच (Positive Thinking) बहुत ज़रूरी है।
कामयाब आदमी हर समय अपनी स्तिथि से संतुष्ट दिखाई पड़ता है क्यूँ कि अभी तक ऐसा आदमी जो हर तरह से संपूर्ण हो, कहीं नहीं देखा गया। सच्चाई यह है कि सच्ची और बदलती हुई ज़िंदगी वही है जिस में आदमी जो कुछ है उसे मान ले अपने आप को वास्तविक रूप में मान लेने का मतलब यह है कि आप ज़िम्मेदारी उठा सकते हैं।
जो लोग अपने जीवन में सफल नहीं हो पाते वो अक्सर यह कहते हुए आप को दिख जाएंगे कि …..
“यह मुझ से नहीं हो सकता…”
“मगर मैं इसे कैसे करूँगा…”
“मैं चाहता था कि…”
“लेकिन…”
जबकि कामयाब Successful आदमी के शब्द कुछ यूँ हुआ करते हैं।
“मैं कर सकता हूँ…”
“मैं तैयार हूँ…”
“अगली बार कोई भूल नहीं करुंगा…”
“मैं ठीक हूँ…”
जब किसी आदमी के किसी काम की सराहना की जा रही हो तो उस समय ध्यान से देखें, अगर वह सकारात्मक सोच (Positive Thinking) रखता है तो वह उस सराहना को अपना हक़ समझेगा। अक्सर वैसे लोगों का जवाब होगा “धन्यवाद बहुत बहुत धन्यवाद”
मगर जब किसी ऐसे आदमी की बात हो जो असफल होने वालो में से होता है तो उसके जवाब बिलकुल अलग कुछ यूँ होते हैं…
“अरे जनाब मैं ऐसा तो नहीं कर सकता था। बस हो गया…”
“मैं तो इसे छोड़ देने के चक्कर में था बस किसी तरह हो गया।” आदि…

 Positive self-esteem के Example.

 

दुनिया के सभी Celebrities ने सकारात्मक आत्मसम्मान (Positive self-esteem) पर बड़ा जोर दिया है। Helen Keller जो अंधी भी थी और बहरी भी उस ने अपने जैसे दूसरों के लिए कितना काम किया। या फिर Einstein को ले लें वह Entrance के Exam में Fail हो गए थे।
Galileo Galilei को ले लीजये उसे दर्जी बनाया जा रहा था।
और अनवर सादात एक देहाती बच्चा था।
इन सब ने लिखा है कि वह बचपन में भी अपने आप को कभी छोटा नहीं समझता थे।
सकारात्मक आत्मसम्मान (Positive self-esteem) रखने वाले व्यक्ति को लोग पसंद करते हैं। वह कभी अकेले नहीं होते।
Successful लोग अपनी Ability को अच्छी तरह जानते और समझते हैं, उन्हें पता होता है कि वह क्या हैं चूंकि वह खुद से प्यार करते हैं इसी लिए वह दूसरों से भी प्यार करते है।
आखिर में एक बार फिर कहूँगा कि अगर आप अपने आप से प्यार करते हो तभी दूसरों को प्यार दे सकते हैं, जो चीज़ आपके पास है ही नहीं वह आप कसी और को कैसे देंगे?

UPTO
50%
Cash-Back
Deal
Recharge using any payment method and get a 50% cashback; The total cashback that a customer can avail during the offer period is INR 50; The Offer is applicable for both new and existing customers; Shop with Amazon Pay balance only for the eligible products and get Rs.50 cashback. (b) The cashback amount will be credited to the eligible customer's account as Amazon Pay balance There is no minimum recharge value required to be eligible for the offer More Less

About the author

Absarul Haque

एक ब्लॉगर जो अपनी बातों को अच्छी बातों में बदलना चाहता है. और आपके सहयोग के बिना ये नामुमकिन है.

Leave a Comment

4 Comments